RBI removes charges on NEFT, RTGS transactions News 6 June 2019

ऑनलाइन बैंकिंग / आरबीआई ने आरटीजीएस और एनईएफटी से फंड ट्रांसफर पर शुल्क खत्म किया

Highlights

  • ‘Banks will be required, in turn, to pass these benefits to their customers’ and ‘instructions will be issued within a week,’ the Reserve Bank said
  • In another development, the RBI reduced repo rate – the rate at which it lends to banks – by 25 basis points (bps) to 5.75 per cent

The Reserve Bank of India (RBI) on Thursday decided not to levy charges on RTGS and NEFT transactions. In order to provide an impetus to digital funds movement, it has been decided to do away with the charges levied by the Reserve Bank for transactions processed in the RTGS and NEFT systems.

“Usage of ATMs by the public has been growing significantly. There have, however, been persistent demands to change the ATM charges and fees. In order to address these, it has been decided to set up a Committee involving all stakeholders, under the chairmanship of the chief executive officer, Indian Banks’ Association (IBA), to examine the entire gamut of ATM charges and fees,” RBI stated.

ऑनलाइन बैंकिंग / आरबीआई ने आरटीजीएस और एनईएफटी से फंड ट्रांसफर पर शुल्क खत्म किया

  1. डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने के लिए रिजर्व बैंक ने यह फैसला लिया
  2. एसबीआई ऑनलाइन फंड ट्रांसफर पर 1 रुपए से 51 रुपए तक शुल्क लेता है
  3. एटीएम के इस्तेमाल पर लगने वाले शुल्कों की समीक्षा के लिए कमेटी बनेगी

आरटीजीएस पर एसबीआई के शुल्क

राशि इंटरनेट बैंकिंग चार्ज बैंक शाखा के जरिए ट्रांजेक्शन पर चार्ज
2 लाख से 5 लाख रुपए 5 रुपए 25 रुपए
5 लाख रुपए से ज्यादा 10 रुपए 51 रुपए

एनईएफटी पर एसबीआई के शुल्क

राशि इंटरनेट बैंकिंग चार्ज बैंक शाखा के जरिए ट्रांजेक्शन पर चार्ज
10000 रुपए तक 1 रुपया 2.5 रुपए
10000 से 1 लाख रुपए तक 2 रुपए 5 रुपए
1 लाख से 2 लाख रुपए तक 3 रुपए 15 रुपए
2 लाख रुपए से अधिक 5 रुपए 25 रुपए